राहुल गांधी के दुबई दौरों पर साथ दिख रहा यह शख्स कौन है ?

Written by TCN MEDIA, January 12, 2019

इन दिनों कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का दुबई दौरा सुर्खियों में है. राहुल गांधी के साथ एक दाढ़ी वाला शख्स का चेहरा भी आपको दिख रहा होगा. आपके दिमाग में कौतूहल होता होगा कि कौन है ये शख्स जो राहुल गांधी के साथ साथ विदेशों में मौजूद रहता है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस इंसान का नाम है सैम पित्रोदा उर्फ सत्यनारायण गंगाराम पित्रोदा. उड़ीसा के तितलागढ़ में 04 मई 1942 को जन्मे सैम पित्रोदा एक भारतीय अविष्कारक, कारोबारी और नीति निर्माता हैं. भारत में कंप्यूटर क्रांति के जन्म में सैम पित्रोदा का ही दिमाग है.

डिजिटल क्रांति के पिता

सैम पित्रोदा पूर्व प्रधानमंत्री और राहुल गांधी के पिता राजीव गांधी के पिता अच्छे दोस्त हुआ करते थें. सैम ने फिजिक्स में एमएससी करने के बाद इलेक्ट्रॉनिक्स में मास्टर्स करने के लिए शिकागो के इलिनॉय इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी गए. साठ और सत्तर के दशक में सैम ने कंप्यूटिंग और दूरसंचार के क्षेत्र में काम किया. उस दौर में कंप्यूटर का नाम भी कोई नहीं जानता था. सैम पित्रोदा के नाम अकेले सौ से अधिक पेटेंट है.

राष्ट्रीय ज्ञान आयोग के अध्यक्ष

1984 में राजीव गांधी के पीएम बनने के बाद उनके आग्रह पर सैम भारत आए और भारत आकर अपनी सेवाएं सरकार को दी. दूरसंचार के क्षेत्र में सैम ने सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑॅफ टेलिमैटिक्स की स्थापना की.

सैम राजीव गांधी के सलाहकार हुआ करते थें.

उन्हीं की सलाह का नतीजा था कि राजीव गांधी भारत में डिजिटल क्रांति के नायक बन कर उभरें. इसके बाद सैम ने मनमोहन सरकार में राष्ट्रीय ज्ञान आयोग के अध्यक्ष का दायित्व निभाया.

संयुक्त राष्ट्र के सलाहकार

सैम पित्रोदा को कई अंतरराष्ट्रीय अवार्ड मिले हैं. विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में उन्हें कई बार सम्मानित किया गया है. सैम ने काफी समय तक संयुक्त राष्ट्र के सलाहकार में रुप काम किया है. इस समय सैम पित्रेदा कांग्रेस के विदेश विभाग का काम देख रहे हैं और राहुल गांधी के सलाहकार हैं.

इन दिनों राहुल गांधी के जितने भी विदेश दौरे हो रहे हैं, उन सबकी व्यवस्था सैम ही देखते हैं. इसके साथ ही पित्रोदा 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के घोषणा पत्र निमार्ण समिति के भी अहम सदस्य हैं.

Loading...
Loading...