दुबई में किंग ने तोड़ा प्रोटोकॉल, राहुल गांधी को दी प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति वाली सुरक्षा व्यवस्था

Written by TCN MEDIA, January 11, 2019

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 11 और 12 जनवरी को संयुक्त अरब अमीरात के आधिकारिक दौरे पर हैं. कांग्रेस के विदेश विभाग की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में राहुल गांधी महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे.

इसके अलावा राहुल गांधी अन्य कई कार्यक्रमों में भी हिस्सा लेंगे.दुबई शासन राहुल गांधी के इस दौरे को बेहद गंभीरता से ले रहा है. राहुल गांधी की आगवानी से लेकर आवभगत और सुरक्षा व्यवस्था पर खुद शाही परिवार के किंग मुहम्मद बिन राशिद अल नजर बनाये हुए हैं.

चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था

दुबई की सुरक्षा एजेंसियां राहुल गांधी के दुबई एयरपोर्ट पर उतरने के साथ ही सक्रिय हो गई है.

राहुल गांधी के इर्द गिर्द दुबई के सुरक्षा अधिकारियों का ऐसा घेरा है कि अगर किसी ने गलती से भी कांग्रेस प्रेसिडेंट के करीब जोर से छींक मार दी तो एक साथ सैकड़ों कान खड़े हो जाएंगे.

एक तरह से यह कहा जा सकता है कि राहुल गांधी के लिए दुबई की जमीन से लेकर आसमान तक को अभेद्य किले में तब्दील करके रख दिया गया है.

परिंदा भी पर नहीं मार सकता

दुबई सिक्योरिटी फोर्स के 129 एजेंट, 3300 के करीब एनएसजी और पारामिलिट्री के जवान, 17000 दुबई पुलिस के जवान, 02 हेलिकॉप्टर, ये वो इंतजाम हैं जो दुबई के शाही परिवार ने राहुल गांधी की सुरक्षा के लिए तैनात किए है.

इस तरह का इंतजाम है कि राहुल गांधी के विरोधी चाह कर भी अपने साजिशों को अंजाम नहीं दे सकते हैं. वहीं काले चश्मे वाले 45 कमांडोज अलग अलग स्थानों पर तैनात किए जाएंगे, जहां जहां भी राहुल गांधी के कार्यक्रम तय किए गए हैं.

शेख नहीं सीक्रेट सर्विस के अधिकारी

राहुल गांधी के दुबई एयरपोर्ट पर उतरते ही उनकी आगवानी के लिए मौजूद कई शेखों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

आपको जानकर हैरत होगी कि वो शेख नहीं बल्कि यूनाइटेड अरब सीक्रेट सर्विस के सिक्योरिटी ऑफिसर हैं जो वीआईपी मेहमानों की सुरक्षा के लिए खासे ट्रेनिंग प्राप्त है. उनके ड्रेस के अंदर कम से कम छह तरह के अत्याधुनिक रिवॉल्वर मौजूद हैं. ये शेख राहुल गांधी के आस पास होने वाले हर मूवमेंट पर पैनी नजर रखेंगे.

बताते चलें कि किंग मुहम्मद बिन राशिद अल के आदेश के बाद पहली बार इस तरह से किसी विदेशी राजनेता को दुबई की धरती पर सुरक्षा व्यवस्था दी गई है. किंग ने इस बाबत पूछे जाने पर बताया कि हिंदुस्तान हमारा दोस्त है. वहां का अगला वजीर ए आजम हमारे मुल्क में दस्तक दे रहा है, इसलिए उनकी आगवानी में कोई कमी नहीं रखी जाएगी.

Loading...
Loading...