बिहार के बेगूसराय से कन्हैया होंगे उम्मीदवार, महागठबंधन में उपेक्षा के बाद वामदलों ने ठोकी ताल


0

Patna: बीजेपी विरोधी ताकतों को एकजुट कर लोकसभा चुनाव से पहले महागठबंधन बनाने की कोशिश अब तक साफ नहीं हो पाई है। राजद, कांग्रेस, जीतनराम मांझी की पार्टी हम और उपेंद्र कुशवाहा का दल रालोसपा महागठबंधन का हिस्सा हैं। लेकिन चालीस लोकसभा सीटों में कुछ जगहों पर मजबूत जनाधार वाले वामदलों को महागठबंधन का हिस्सा बनने को लेकर अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठाये गए है। इधर, बेगूसराय में जिला कार्यकारिणी की बैठक में ये निर्णय लिया गया कि कन्हैया बेगूसराय से ही लोकसभा चुनाव लड़ेंगे।

तो वहीं 2019 लोकसभा चुनाव में महागठबंधन का आकार क्या होगा। इस गठबंधन में कौन-कौन से दल शामिल होंगे। इसपर अभी भी संशय बरकरार है। वहीं, गठबंधन में अब तक सीटों को लेकर तस्वीरें साफ नहीं होते देख वामदलों ने कई सीटों पर तैयारियां शुरू कर दी है। उधर राजद और कांग्रेस में सीटों को लेकर चल रहे घमासान को देखते हुए वामदलों ने चुनाव को लेकर अन्य जगहों पर अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। सीपीआई के राज्य सचिव सत्यनारायण सिंह ने कहा हमने छह सीटों को लेकर तैयारी शुरू कर दी है। राज्य महासचिव ने बताया कि चुनाव से पहले संगठन को मजबूत करने के लिए ब्लॉक स्तर से लेकर जिला लेवल की रैलियां करने जा रहे हैं।

उधर सीपीआई(एम) ने भी गठबंधन में अबतक सीटों को लेकर कोई बात साफ नहीं होने पर कहा कि यह बड़ा ही दुर्भाग्यपूर्ण है। सीपीआई(एम) के राज्य सचिव अवधेश कुमार सिंह ने कहा कि महागठबंधन का नेतृत्व कर रहे राजद ने भी वामदलों से बात कर अबतक कोई रास्ता नहीं निकाला है इसलिए वामदलों ने लगभग दर्जनभर सीटों पर चुनावी तैयारियां शुरू कर दी है। बहरहाल, राजद, कांग्रेस गठबंधन को महागठबंधन के आकार तक पहुंचाना आसान नहीं है। अबतक कांग्रेस और जीतन राम मांझी ने 20-20 सीटों का दावा ठोक रखा है। ऐसे में अन्य दलों को साथ लाना तो दूर की बात है। उनसे बात करने से भी परेहज किया जा रहा है।


Like it? Share with your friends!

0

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *