Video:भागलपुर से कौन बनेगा सांसद ?


0

भागलपुर संसदीय क्षेत्र बिहार की कुल 40 सीटों में एक है. चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक भागलपुर में करीब 1,433,346 मतदाता हैं जिनमें 774,758 पुरुष और 658,588 महिला मतदाता हैं. पिछले साल 24 अप्रैल को चुनाव हुए थे जिनमें 18 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला हुआ था. आरजेडी के शैलेष कुमार उर्फ बूलो मंडल ने बीजेपी के शाहनवाज हुसैन को हराया था. हालांकि अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में सबसे युवा मंत्री रहे हुसैन ने 2009 आम चुनावों में राजद के शकुनी चौधरी को हराया था. इससे पहले 2006 उपचुनाव में भी उन्होंने चौधरी को मात दी थी.

हैरानी तो इस बात की है कि भागलपुर संसदीय सीट से आज तक कोई महिला सांसद नहीं चुनी गई। जदयू कोटे से कहकशां परवीन राज्यसभा में जरूर प्रतिनिधित्व कर रही हैं। सर्वाधिक महिला सांसद बांका लोकसभा क्षेत्र से हुईं।

संसदीय क्षेत्र का इतिहास

इस संसदीय क्षेत्र की कुल आबादी 30,32,226 है. यहां सबसे पहले 1951 में लोकसभा चुनाव हुए थे. तब यह क्षेत्र दरभंगा और भागलपुर एक साथ मिला हुआ था. बाद में परिसीमन में दोनों इलाके अलग हो गए. कुछ पुराने क्षेत्र निकल गए तो नए क्षेत्र जुड़ गए. कुछ क्षेत्र खत्म हो गए. पीरपैंती विधानसभा क्षेत्र एससी के लिए सुरक्षित क्षेत्र बन गया जो कि पहले सामान्य क्षेत्र था. जो नया भागलपुर संसदीय क्षेत्र बना उसमें बिहपुर, गोपालपुर, पीरपैंती, कहलगांव, भागलपुर और नाथनगर शामिल हुए. पुराने ससंदीय क्षेत्र से सुलतानगंज और धरैया विधानसभा निकल गए.

इन दोनों क्षेत्रों को बांका संसदीय क्षेत्र में डाल दिया गया. इसके साथ ही बिहपुर और गोपालपुर नए विधानसभा क्षेत्रों को भागलपुर में शामिल किया गया. ये दोनों विधानसभा क्षेत्र पहले खगड़िया संसदीय क्षेत्र में शामिल थे.2014 के चुनाव में बीजेपी के शाहनवाज हुसैन और आरजेडी के प्रत्याशी शैलेष कुमार मंडल के बीच सीधी टक्कर थी. इसमें मंडल विजयी रहे और उन्हें 3,67,623 वोट मिले. उपविजेता रहे शाहनवाज हुसैन को 3,58,138 वोट मिले. शाहनवाज हुसैन मात्र कुछ हजार वोटों से हारे थे. वोट प्रतिशत की बात करें तो मंडल को 37.74 प्रतिशत वोट मिले जबकि हुसैन को 36.76 प्रतिशत वोट हासिल हुए. तीसरे स्थान पर जेडीयू के अबु कैसर रहे थे जिन्हें 1,32,256 वोट मिले. उनका वोट प्रतिशत 13.58 प्रतिशत था. इस चुनाव में चौथे और पांचवें स्थान पर निर्दलीय उम्मीदवार थे. छठा स्थान नोटा को मिला था जिसके तहत 11,875 वोट दर्ज हुए. मंडल और हुसैन की टक्कर में बीजेपी के वोट आरजेडी की तरफ स्वींग हुए.

संवीक्षा के बाद चुनाव मैदान में नौ प्रत्याशी

शैलेश कुमार उर्फ बुलो मंडल–राजद (कांग्रेस और राजद का समर्थन प्राप्त)

अजय कुमार मंडल–जदयू (भाजपा, जदयू और लोजपा का समर्थन प्राप्त)


Like it? Share with your friends!

0

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *