विरोधियों के खिलाफ तेजस्वी गरजे, कहा – महागठबंधन ही जीतेगा


0

बिहार में लोकसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मी काफी तेज है। यहाँ पर सीधे-सीधे मुक़ाबला राजग और महागठबंधन के बीच होने वाला है। राजद, जो महागठबंधन में मुख्य किरदार अदा कर रही है, उसको पूरा यकीन है की है इस बार के लोकसभा चुनाव में प्रदेश में एनडीए हार जाएगी। एक ख़ास बातचीत में राजद प्रमुख के छोटे बेटे और सूबे के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी ने बताया की भाजपा ने जदयू को 17 सीटें देकर बहुत बड़ी गलती कर दी है, इस बार एनडीए को इसका नतीजा हार के रूप में देखना पड़ेगा, और उसकी ये हार निश्चित है।

सवाल : बिहार में महागठबंधन की जीत की कितनी संभावनाएं हैं ?

जवाब : हम यानी महागठबंधन जीतेगा। और इस बार एनडीए की हार पूरी तरह से निश्चित है। दरअसल, जदयू को भाजपा ने 17 सीटें बड़ी गलती कर दी है। पूरी तरह से इवेंट मैनेजमेंट पर राजग की सरकार आधारित है। ये लोगों की आकांक्षाओं के मूल्य पर फर्जी मुद्दों को हवा दे रहे हैं। जब 23 मई को परिणाम आएगा, तब वो दिन एनडीए के लिए किसी भी सदमे से कम नहीं होगा।

सवाल : बिहार म,में महागठबंधन का चेहरा कौन है ?

जवाब : कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है और इस पपार्टी के अध्यक्ष राहुल गाँधी हैं। ऐसे में राहुल गाँधी को ही महागठबधन का चेहरा होना चाहिए।

सवाल : चुनाव प्रचार के दौरान आपको पिता (लालू यादव) की कमी खल रही है ?

जवाब : हम सभी खासकर मीडियाकर्मी भी लालूजी को बहुत याद कर रहे हैं। मैं यह बोल सकता हूँ कि वो हमारे लिए किसी भी राजनीतिक संस्थान से कम नहीं हैं, जिनके मार्गदर्शन में हम विद्यार्थियों की तरह हमेशा कुछ नया सीखते हैं। और उनका मार्गदर्शन ही हमें सही समय पर सही कदम लेने का प्रेरणा देता है।

सवाल : नीतीश कुमार ने यह आरोप लगाया है की लालू यादव जेल में होने के बावजूद फ़ोन का बात करते हैं ?

जवाब : अपने कार्यकाल में नीतीश कुमार ने कोई काम नहीं किया है। ऐसे में वो अब लालूजी को निशाना बना रहे हैं और यह झूठ फ़ैलाने की कोशिश कर रहे हैं की लालूजी जेल से फ़ोन पर बात कर रहे हैं। बल्कि अनंत सिंह ने तो यहाँ तक बोल दिया था की नीतीश कुमार ने अपने करीबी लल्लन सिंह के फ़ोन से लालूजी को फ़ोन किया था, जब वह जेल में थे।

सवाल : पप्पू यादव आप पर टिकट नहीं मिलने का आरोप लगा रहे हैं ?

जवाब : मैं भाजपा की कठपुतलियों पर गौर नहीं करता। वो कांग्रेस के खिलाफ किशनगंज और पूर्णिया में माहौल बना रहे हैं। इसके अलावा महागठबंधन के उम्मीदवारों के खिलाफ मधेपुरा और बेगूसराय में काम कर रहे हैं।

सवाल : राजनीती में कन्हैया कुमार को लेकर आपके क्या विचार हैं ?

जवाब : हमारा सीपीआई के साथ कोई गठबंधन नहीं है। हम पिछले चुनाव में बेगूसराय में हमारे उम्मीदवार तनवीर हसन के सराहनीये प्रदर्शन को हम नज़रअंदाज़ नहीं कर सकते। अल्पसंख्यक उम्मीदवार के लिए बहुत ही कम सीट है, और वैसे भी तनवीर एक कामयाब प्रत्याशी हैं।

सवाल : आपके भाई ने आपके पार्टी से अलग जाकर लालू-राबड़ी मोर्चा बना लिया है ?

जवाब : सभी को लोकतंत्र में अपने विचार रखने की आज़ादी है। यह एक परिवार का मामला है और मैं इस पर कुछ भी नहीं कहना चाहता।


Like it? Share with your friends!

0

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *