‘गुलाबी’ हुआ बिहार का मतदान केंद्र, महिलाएं बनी कर्मी


0

लोकतंत्र के प्रति लोगों की आस्था, जिम्मेदारी, भरोसा, हर चीज़ का जाकारी दिला रहे मतदान केंद्रों पर आज यानि गुरुवार को पूरे देश में चुनावी महापर्व शुरू हो चुका है। इसी क्रम में बिहार में पहले चरण में गया, नवादा, जमुई और औरंगाबाद में आज मतदान जारी है। प्रतिक के रूप में कुछ मतदान केंद्रों को जिस रंग में रंगा गया है, उसे देख मतदाता खुश हो जाता है, यानि बिलकुल गुलाबी छटा।

लोगों को गया के नक्सल प्रभावित क्षेत्र बाराचट्टी का अदलपुर और घोड़सारी मतदान केंद्र खूब भा रहा है। गुलाबी रंग के तोरण द्वार यहाँ पर बनाये गए हैं। सबसे बड़ी बात यह है की ये केंद्र नारी सशक्तिकरण का केंद्र बना हुआ है। पूरा केंद्र महिलाओं के हवाले है। यहाँ सुरक्षाकर्मी से लेकर मतदानकर्मी तक सभी महिलाएं हैं। इस बूथ का नाम पिंक बूथ दिया गया है। अलग-अलग गैलरी आस्था और सखी मतदान केंद्र पर आने वाले सभी पुरुष और महिलाओँ के लिए बनायीं गयी है। सोफा, कूलर, पंखा के साथ शुद्ध-पेयजल की भी व्यवस्था भी पोर्टिको में किया गया है। इतना ही नहीं खिलौने और टॉफ़ी की व्यवस्था महिलाओं के साथ आने वाले बच्चों के लिए भी किया गया है।

जमुई के शेखपुरा सहित बहुत बूथों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किया गया था। अपनी प्रस्तुतियां वहां पर सांस्कृतिक कर्मी देते हुए नज़र आ रहे हैं। सखी मतदान केंद्र गया के हर विधानसभा क्षेत्र में बनाये गए हैं, और यहाँ पर महिलाएं मतदान करा रही हैं। इसके साथ आदर्श मतदान केंद्र बनाये गए हैं जहाँ पर मतदाताओं का स्वागत गुलाब देकर किया जा रहा है। भगहर निवासी एक बुजुर्ग मतदाता रघुनन्दन महतो बताते हैं कि पहली दफा इस तरह का मतदान केंद्र गाँव में देखा है, लेकिन इस बार तो मेले जैसा लग रहा है। इस बार तो पहले के मुक़ाबले अधिक लोग मतदान करने पहुंचेंगे।


Like it? Share with your friends!

0

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *