राम नवमी पर इन राशियों के लिए बन रहा शुभ संयोग, धन धान्य की होगी वर्षा 


0

रामनवमी का त्यौहार हिन्दू धर्म में काफी धूम धाम से मनाया जाने वाला त्यौहार है. धर्मशास्त्रों के अनुसार रामनवमी के ही दिन त्रेता युग में अयोध्या के महाराज दशरथ के घर में भगवान् राम का जन्म हुआ था. भगवान् राम विष्णु के अवतार है जिनका जन्म लंकापति रावन की मृत्यु और समाज में धर्म की स्थापना के लिए हुआ था. ऐसे में माना जाता है कि रामनवमी के दिन भगवान राम की पूजा अर्चना करने से विशेष पुण्य की प्राप्ति होती है.

उत्तर भारत में इस दिन भगवान् राम की पूजा अर्चना काफी हर्षोलास के साथ की जाती है. इस दिन पवनपुत्र हनुमान की भी पूजा की जाती है. माना जाता है कि रामनवमी के दिन ब्राह्मणों को भोजन कराने से सुख समृद्धि का वास होता है. राम के नाम पर इस दिन श्रद्धालु एक दिन का व्रत भी रखते हैं.

जानकारी के मुताबिक़ इस वर्ष रामनवमी 13 अप्रैल को सुबह 8:16 से प्रारंभ होकर 14 अप्रैल को सुबह 6 बजे तक रहेगा. इसलिए राम नवमी के दिन होने वाला यज्ञ 14 अप्रैल सुबह 6 बजे के पहले करवाना उचित है. 14 अप्रैल सुबह 6 बजे के बाद दशमी शुरू हो जाएगी.

रामनवमी को लेकर पटना के महावीर मंदिर में सारी व्यवस्थाएं जोर शोर से चल रही है. श्रद्धालुओं की व्यवस्था के लिए पंडाल का निर्माण कराया गया है. प्रसाद के लिए कई नए स्टाल बनाये गए हैं. आपको बता दें की हर साल रामनवमी के मौके पर महावीर मंदिर में श्रद्धालुओं की काफी भीड़ उमरती है.


Like it? Share with your friends!

0

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *