दक्षिणी दिल्ली से पहलवान सुशील कुमार को लोकसभा चुनाव लड़वा सकती है कांग्रेस


0

New Delhi : 2 ओलंपिक मेडल जीत चुके पहलवान सुशील कुमार को कांग्रेस लोकसभा चुनाव 2019 में साउथ दिल्ली सीट से उम्मीदवार बना सकती है। सुशील कुमार के गुरु पद्म भूषण महाबली सतपाल ने एक ही दिन पहले इस बात का खुलासा किया था कि कांग्रेस ने सुशील दिल्ली से प्रत्याशी बनाने के लिए इच्छा जताई है लेकिन उन्होंने इस बारे में सोचने के लिए एक दिन का वक़्त मांगा था। सूत्रों के मुताबिक सुशील ने मंजूरी दे दी है।

साल 2006 में अर्जुन पुरस्कार और 2011 में पद्मश्री से सम्मानित सुशील ने 14 साल की उम्र में दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम के अखाड़े में पहलवानी की ट्रेनिंग लेना शुरु किया था। शुरुआत में उन्हें कोच यशवीर और रामफल ने ट्रेनिंग दी। इसके बाद अर्जुन अवॉर्ड प्राप्त गुरु सतपाल ने उन्हें ट्रेनिंग दी। इसके बाद भारतीय रेल के ट्रेनिंग कैम्प में ज्ञान सिंह और राजकुमार बैसला गुर्जर ने भी सुशील को कोचिंग दी थी। फ्रीस्टाइल रेसलिंग में सुशील कुमार को पहली कामयाबी साल 1998 में वर्ल्ड कैडेट गेम्स में मिली, जहां उन्होंने अपने वजन की कैटेगरी में गोल्ड मेडल जीता। इसके बाद उन्होंने साल 2000 में एशियन जूनियर कुश्ती चैम्पियनशिप में भी गोल्ड जीता। 2003 में एशियन कुश्ती चैंपियनशिप में उन्होंने ब्रॉन्ज जीता। इसी के साथ उन्होंने इसी साल और 2005 में कॉमनवेल्थ कुश्ती चैंपियनशिप में गोल्ड जीता।

साल 2007 के वर्ल्ड चैंपियनशिप में सुशील सातवें स्थान पर रहे। लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। इसके बाद एक बार फिर उन्होंने फॉर्म में वापसी करते हुए 2008 के बीजिंग ओलंपिक में ब्रॉन्ज जीतकर अपनी काबिलियत साबित की। इसके बाद उन्होंने 2012 के ओलंपिक में सिल्वर जीता। इसके साथ ही सुशील आजाद भारत के लिए दो ओलंपिक पदक जीतने वाले पहले खिलाड़ी बन गए।


Like it? Share with your friends!

0

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *