13 तारीख के 11:42 से शुरू होकर 14 अप्रैल सुबह 9:36 तक रहेगी रामनवमी


0

New Delhi : 6 अप्रैल से चैत्र नवरात्र की शुरुआत हुई थी। जिसका समापन को लेकर लोगों में थोड़ा सा असंजस पैदा हो रहा है। कोई कह रहा है कि 13 को रामनवमी है तो कोई कह रहा है 14 को है। अगर आप भी इसी को लेकर परेशान है तो जानें आखिर किस दिन होगा नवरात्र समाप्त।

अष्टमी तिथि 13 अप्रैल दोपहर पहले 11:42 पर ही समाप्त हो जाएगी, उसके बाद नवमी तिथि लग जायेगी जो कि 14 अप्रैल सुबह 09:36 तक रहेगी। इस प्रकार नवमी तिथि दो दिनों तक रहेगी और माधव कालनिर्णय के पृष्ठ 229 से 230 पर आया है कि जब नवमी दो तिथियों में हो और पहली तिथि के मध्याह्न में नवमी हो, तो नवमी का व्रत पहली तिथि को ही किया जाना चाहिए।

चूंकि 14 को नवमी तिथि दोपहर होने से पहले ही सुबह 09:36 पर समाप्त हो जायेगी और 13 को नवमी तिथि दोपहर के समय रहेगी। अतः इस बार नवमी तिथि का व्रत भी अष्टमी तिथि के साथ, यानी आज ही के दिन किया जाएगा। इसके साथ ही इस बात का ध्यान रहे नवमी तिथि का हवन 14 अप्रैल के दिन किया जायेगा और नवरात्र भी इसी दिन ही सम्पूर्ण होंगे।

क्यों मनाई जाती है रामनवमी : रामनवमी का दिन बेहद शुभ है। इस दिन भगवान श्रीराम का जन्म उत्तर प्रदेश के अयोध्या में हुआ था। राजा दशरथ और कौशल्या की कड़ी तपस्या के बाद उन्हें श्रीराम और उनके तीन भाइयों की प्राप्ति हुई।

 


Like it? Share with your friends!

0

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *