अश्वनी चौबे बोले-घूंघट में रहे राबड़ी भाभी, राबड़ी ने कहा-अपनी महिला नेताओं को घूंघट में रख लो


0

New Delhi :  लोकसभा चुनाव चल रहे हैं। राजनीति में बयान बाजी भी चरम पर है। सभी नेता अपने विरोधियों पर जमकर बयानबाजी कर रहे हैं। कई नेता तो ये भी नहीं सोचते कि वो क्या बोल रहे हैं। विवादित बयान देने वाले नेताओं की लिस्ट में ताजा नाम जुड़ा है केंद्रीय राज्य मंत्री और बिहार के BJP नेता अश्वनी चौबे का। उन्होंने राबड़ी देवी को लेकर विवादित बयान दिया है।

अश्विनी चौबे ने बिहार पूर्व CM राबड़ी देवी पर निशाना साधते हुए कहा कि राबड़ी देवी हमारी भाभी हैं हमारी, वे घूंघट में ही रहें। राबड़ी देवी ने उनके इस बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है और करारा जवाब भी दिया।

राबड़ी देवी ने लिखा- चौबे जी, घूँघट वाली महिलाओं से इतनी नफ़रत और भय क्यों? क्या यही है आपके मोदी जी का महिला सशक्तिकरण? यह है बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ? आप जैसे चौबे, छब्बे और दूबे की पितृसत्ता से सूबे को हमने छूटकारा दिलाया तो उसकी पीड़ा आपके बयान में नज़र आ रही है। इतना बेशर्म मत बनिए।

राबड़ी ने अपने अगले ट्वीट में भोजपुरी में तंज कसा है और लिखा है कि चौबे जी,औरत के घुघ तान के राखा तारू त काहे के औरत से डर लागता? 5 साल क्षेत्र में ना घुमलू तो औरत तोहार दाढ़ी नोंच के बिग ना दीयसन इहे डर लागता? जइबू क्षेत्र में वोट मांगे त सब औरत से तोहार जवाब मिली!

राबड़ी देवी यहीं नहीं रूकीं, उन्होंने वीडियो भी जारी कर अश्विनी चौबे को करारा जवाब दिया है। अश्विनी चौबे लगातार अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में बने रहते हैं। हाल ही में आचार संहिता का उल्लंघन के आरोप में अश्विनी चौबे के खिलाफ FIR दर्ज की गई है। केंद्रीय मंत्री के साथ-साथ बीजेपी नेता राणा प्रताप सिंह समेत 150 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। अश्विनी चौबे के समर्थन में संकल्प सभा का आयोजन किया गया था और कार्यक्रम के समाप्त होने के बाद चौबे का काफिला वापस जा रहा था। इस दौरान सदर SDO ने चौबे के काफिले को रोकते हुए कहा कि आपके काफिले में अनुमति से ज्यादा गाड़ियां हैं, जिन पर कार्रवाई की जाएगी। अधिकारी का इतना कहना था कि चौबे आग-बबूला हो गए। उन्होंने चिल्लाते हुए कहा कि हिम्मत है तो ले चलो जेलए किसके आदेश से मेरी गाड़ी रोके हो?।


Like it? Share with your friends!

0

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *