नीतीश के सम्मान के बावजूद,बिहार के मुसलमान BJP को वोट देने से कतरा रहे हैं!


0

बिहार में सबसे प्रभावशाली मुस्लिम संगठन इमारत-ए-शरिया ने लोकसभा चुनाव को लेकर टिकट बंटवारे पर असंतोष जताया है. उनका कहना है कि राजनीतिक दलों ने आबादी के अनुपात के हिसाब से टिकट का बंटवारा नहीं किया है. मुस्लिमों को प्रतिनिधित्‍व का मौका नहीं दिया गया है.

संगठन ने आगाह किया है, ‘मुस्लिम समुदाय नीतीश कुमार को पसंद करता है. लेकिन राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को वोट देने में कतरा रहा है.’ न्‍यूज18 से बात करते हुए इमारत शरिया के महासचिव मौलाना अनिसुर रहमान कासमी ने कहा, ‘दूसरों की तुलना में नीतीश कुमार को मुस्लिम समुदाय द्वारा बहुत अच्छा मुख्यमंत्री माना जाता है.’

अनिसुर रहमान कासमी ने कहा, ‘लोगों को पता है कि वे नीतीश कुमार को वोट देंगे तो वे एनडीए के खाते में जाएगा, जो केंद्र में जीतने जा रही है. नीतीश कुमार खुद में सक्षम नेता हैं. उनकी व्‍यक्तिगत नीतियां एनडीए के साथ मैच नहीं करती है. अब मुस्लिम समुदाय के मन में दो विचार चल रहे हैं.’

कासमी ने बिहार के ढांचागत विकास को लेकर नीतीश कुमार की प्रशांसा की है. उन्‍होंने कहा, ‘वास्‍तव में बिहार के विकास नीतीश कुमार ने ही किया और उन्‍होंने बिहार को आगे बढ़ाया है. वे सभी समुदायों को साथ लेकर चलते हैं. उन्होंने सड़कों का निर्माण कराया, विद्युतीकरण की दिशा में काम किया और इससे हम सभी में आशा जगी है.’

कासमी ने कहा, ‘विकास केवल सुशासन की कुंजी नहीं है. कोई भी सरकार सफल सरकार तब बनती है जब वे सभी जाति और धर्मों को साथ लेकर चलती है.’ बिहार में 18 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान होगा. यह मतदान उन सीटों पर होगा जहां मुस्लिम आबादी सबसे ज्‍यादा है. अररिया, किशनगंज और कटिहार में 40% से अधिक मुस्लिम मतदाता हैं.

Source: News18 Bihar


Like it? Share with your friends!

0

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *