कितना वेतन मिलता है आपके मुखिया, सरपंच और जिला पार्षद को !


0

आइए, आज हम बात करते हैं बिहार के पंचायत प्रतिनिधियों यानी जिला परिषद, पंचायत समिति और ग्राम पंचायत के निर्वाचित माननीयों को सरकार की ओर से मिलने वाले वेतन की.

मंत्री, सांसद, विधायक जैसे जनप्रतिनिधियों को भारी भरकम वेतन भत्ता मिलता है, ये तो सभी जानते हैं लेकिन आपको जानना चाहिए कि बिहार में पंचायत प्रतिनिधियों को भी सरकार वेतन देती है ताकी ये अपने कार्य सुचारु ढंग से कर सकें.

बिहार में स्थानीय निकाय के जनप्रतिनिधियों को कितना वेतन मिलता है, ये आप भी जानना चाहते होंगें. बिहार में त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था है. इसमें जिला पार्षद, मुखिया, सरपंच, बीडीसी, पंचायत समिति सदस्य, वार्ड सदस्य और पंच के पदो के लिए निर्वाचन होता है.

बिहार राज्य में त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था है. बिहार राज्य पंचायती राज अधिनियम 2006 के प्रावधानों के अनुसार में बिहार में पंचायती राज के तीन प्रमुख ढांचे है.

ग्राम पंचायत, पंचायत समिति और जिला परिषद.

ग्राम पंचायत, पंचायत समिति एवं जिला परिषद में ज्यादातर पर निर्वाचन के द्वारा भरा जाता है जबकि कुछ पदों को सरकार भर्ती है . ग्राम पंचायत सचिव और न्यायमित्र  पदों की भर्ती स्थानीय सरकार करता है जो पंचायत जनप्रतिनिधि के अनुशंसा पर होता है.

जानिए किसको कितना मिलता है वेतन:

जिला परिषद अध्यक्ष: 12 हजार रुपए प्रतिमाह

पंचायत समिति प्रमुख: 10 हजार रुपए प्रतिमाह

पंचायत समिति उप-प्रमुख: 5 हजार रुपए प्रतिमाह

मुखिया: 2500 रुपए प्रतिमाह

उप मुखिया: 1200 रुपए प्रतिमाह

सरपंच: 2500 रुपए प्रतिमाह

उप सरपंच: 1200 रुपए प्रतिमाह

जिला परिषद सदस्य: 2500 रुपए प्रतिमाह

पंचायत समिति सदस्य: 1000प्रतिमाह

वार्ड सदस्य: 500 रुपए प्रतिमाह

पंच: 500 रुपए प्रतिमाह

न्यायमित्र: 7000 रुपए प्रतिमाह

ग्राम पंचायत सचिव: 6000 रुपए प्रतिमाह

सरकार ने इन सभी पंचायत प्रतिनिधियों के पद पर रहते हुए मौत होने पर परिवारवालों को 05 लाख रुपये देने का प्रावधान भी किया है.

 


Like it? Share with your friends!

0

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *