JDU और RJD का होने वाला था विलय-जीतनराम मांझी


0

PATNA: आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर लिखी किताब ने बिहार की सियासत का पारा चढ़ा दिया है। किताब में नीतीश कुमार के दोबारा महागठबंधन में शामिल होने के दावे से सभी राजनीतिक दलों के अंदर चर्चा लका माहौल बन गया। जिसके बाद तेजस्वी यादव ने भी सी बात को सही बताते हुए नई बात कह दी। तेजस्वी यादव ने कांग्रेस पार्टी का विलय जेडीयू में होने की बात कही। जिस पर जीतनराम मांझी (JITANRAM MANJHI) ने भी अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा के मुखिया और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम ने तेजस्वी यादव के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि आरजेडी और जेडीयू का विलय होने वाला था। इसी के साथ ही मांझी ने कहा कि नीतीश कुमार ने आरजेडी से पीएम पद के चेहरे के रूप में आरजेडी का सहयोग भी माँगा था।

वहीँ अगर बात तेजस्वी यादव के बयान की करें तो उन्होंने कहा कि आरजेडी में बात नहीं बनने पर नीतीश कुमार कांग्रेस के पास गए हुए उन्होंने कांग्रेस के जेडीयू में विलय होने का प्रस्ताव रखा। इसके उलट मांझी ने तो आरजेडी और जेडीयू के विलय होने की बात कह दी। अब देखना यह होगा कि आखिरकार कौन सही बोल रहा है और कौन झूठ।

वहीँ तेजस्वी यादव के बयान को कांग्रेस नेताओं में सिरे से खारिज कर दिया है। कांग्रेसी नेता परमचंद्र मिश्रा ने तेजस्वी यादव के बयान से किनारा करते हुए कहा कि जेडीयू की तरफ से कांग्रेस के पास विलय का कोई प्रस्ताव नहीं आया था।बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष मदन मोहन झा ने भी तेजस्वी यादव के बयान को खारिज कर दिया और कहा कि उन्होंने ये बातें सिर्फ कितान में लिखी हुईं हैं इससे ज्यादा उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है।


Like it? Share with your friends!

0

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *