Loading...
गुजरात छोड़ भाग रहे यूपी-बिहार के लोगों ने सुनाई आपबीती, मकान मालिक कह रहे घर खाली करो – TCN
Connect with us

वायरल

गुजरात छोड़ भाग रहे यूपी-बिहार के लोगों ने सुनाई आपबीती, मकान मालिक कह रहे घर खाली करो

Published

on

गुजरात पुलिस के मुताबिक प्रवासियों खासकर यूपी-बिहार के लोगों को निशाना बनाने के आरोप में गांधीनगर, अहमदाबाद, सबरकांठा, पाटन और मेहसाणा में करीब 450 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

New Delhi, Oct 08 : गुजरात के अहमदाबाद और उसके पड़ोसी जिलों में हिंदी बोलने वाले कई प्रवासी पलायन कर रहे हैं। सालों से गुजरात में रहकर रोजी-रोटी कमाने वाले यूपी, बिहार के लोग अब भीड़ के डर से भाग रहे हैं। दरअसल इस मामले की शुरुआत एक 14 वर्षीय बच्ची के साथ बलात्कार की घटना से हुई, जिसके बाद वहां एक समुदाय के लोग भीड़ बनकर गैर-गुजरातियों पर हमले कर रहे हैं, अहमदाबाद के चाणक्यपुरी फ्लाईओवर के नीचे बस का इंतजार कर रहे कुछ प्रवासियों ने बताया कि उनके मकान मालिक ने कहा कि घर खाली कर अपने-अपने प्रदेश जाएं।

अब तक 450 से ज्यादा गिरफ्तार
गुजरात पुलिस के मुताबिक प्रवासियों खासकर यूपी-बिहार के लोगों को निशाना बनाने के आरोप में गांधीनगर, अहमदाबाद, सबरकांठा, पाटन और मेहसाणा में करीब 450 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

मूल रुप से एमपी के भिंड की रहने वाली राजकुमारी जाटव ने बताया कि उनके बच्चे गली में खेल रहे थे, तभी भीड़ ने गुरुवार (4 अक्टूबर) को हमला किया, वो अभी भी सदमे में हैं, 4 साल के बच्चे को वो डॉक्टर के पास ले गई, ताकि शांत हो जाए, राजकुमारी अपने तीन बच्चे और पति के साथ अहमदाबाद के चांदलोदिया इलाके में रहती थी, अब गुजरात छोड़ अपने घर भिंड जा रही है।

9 बजे तक गुजरात छोड़ दें
भिंड के ही रहने वाले धर्मेन्द ने बताया कि पिछले कुछ दिनों में यूपी बिहार और एमपी के करीब 1500 लोग वहां से अपने घर जा चुके हैं,

कुशवाहा के मुताबिक नकाब पहने कुछ लोगों ने उनसे कहा था कि सुबह 9 बजे से पहले गुजरात छोड़ दें, नहीं तो मारे जाएंगे। 6 अक्टूबर को खचाखच भरी करीब 20 बसें अहमदाबाद से यूपी, एमपी और बिहार के लिये रवाना हुई।

सोशल मीडिया से फैलाई जा रही खबर
42 वर्षीय कृष्णाचंद शर्मा ने बताया कि वो ठेकेदारी का काम करते हैं, वो पिछले 22 साल से अहमदाबाद में रह रहे हैं, लेकिन उन्हें याद नहीं आता,

कि कभी ऐसे हालात उन्होने पहले देखे हों, हिंदू-मुस्लिम दंगे में भी ऐसी स्थिति नहीं थी, खबर फेसबुक और व्हाट्सएप्प के जरिये फैलाई जा रही है।

कैसे शुरु हुआ ये
28 सितंबर को ठाकोर समाज के एक 14 वर्षीय लड़की के साथ कथित रुप बलात्कार किया गया, शनिवार को उस लड़की को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई,

लड़की की हालत अब खतरे से बाहर है। आरोपी युवक को उसी दिन गिरफ्तार कर लिया गया था, इसी घटना के बाद प्रवासियों पर हमले हो रहे हैं। गुजरात के डीजीपी शिवानंद झा ने कहा कि वो हालात पर पूरी तरह से नजर बनाये हुए हैं, प्रभावित इलाकों में पुलिस बल की तैनाती की गई है, ताकि किसी भी प्रवासी पर हमला ना हो सके।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

Loading...

Copyright © 2018 TCN Media